सरसों हाजिर भाव 2021

अराइवल बनते ही सरसों हाजिर भाव 2021 और तेल खली में गिरावट

Mandi Rates Today

Mustard News : सरसों हाजिर भाव 2021 में कल शाम को अनुमानित ₹100 से ऊपर की गिरावट देखने को मिली थी जिसका कारण सरसों के तेल में और सरसों खली में गिरावट का होना बताया गया था इसी के साथ साथ कारोबारियों द्वारा कहा गया कि आवक बढ़ने के कारण भी सरसों और इसके तेल पर दबाव बना हुआ है जिसके चलते इसके भावों में गिरावट देखने को मिली है।

सरसों हाजिर भाव 2021 और आमदन की ताजा ऑनलाइन अपडेट

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि पूरे देश में सरसों की अराइवल 1075000 बोरी की रही है जिसमें से राजस्थान के अंदर 635000 बोरी, मध्य प्रदेश में 95000 बोरी, उत्तर प्रदेश में 125000 बोरी, हिमाचल प्रदेश में 80000 बोरी, गुजरात में 75000 बोरी और अन्य सभी राज्यों को मिलाकर 65000 बोरी सरसों की अराइवल देखने को मिली है।

कल जैसे ही सरसों का बाजार शुरू हुआ था तो शुरुआती दौर में ₹75 की गिरावट देखने को मिली थी और उसके बाद धीरे-धीरे शाम को सरसों हाजिर भाव 2021 में ₹30 की गिरावट और दर्ज हुई जिसके चलते सरसो भाव में कुल ₹105 की गिरावट रही।

यदि बात हम संपूर्ण देश की करें तो सरसों की आमदन में 20000 बोरी का इजाफा हुआ है कल के दिन में।

इस बढ़ती अराइवल और सरसों तेल एवं सरसों खली के बाजार भाव में गिरावट के साथ व्यापारी कारोबार करना उचित मान रहे हैं।

केवल सरसों ही नहीं बल्कि अन्य खाद्य तेल के भाव में भी गिरावट का असर सरसों के रेट पर देखने को मिल रहा है।

अभी सरसों का सीजन अपने पीक पर है जिसके चलते तेल मिलें, प्रोसेसर और स्टॉकिस्ट ऊंचे भाव पर खरीद करने का मन नहीं बना रहे हैं।

यदि हम कुछ सरकारी आंकड़ों के अनुमान की बात करें तो इस वर्ष उनके अनुसार सरसों का उत्पादन 10403000 टन को पार कर जाएगा जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 912 लाख टन था यानी कि सरसों उत्पादन में अनुमानित 750000 टन की बढ़ोतरी हुई है।

2020-21 में सरसों की बिजाई पिछले वर्ष के मुकाबले 500000 हेक्टेयर बढ़कर सुवेतर लाख हेक्टेयर पर पहुंची थी जिसका कारण सरसों तेल में अचानक आई डिमांड को बताया जा रहा था।

पिछले साल जैसे ही किसान माल मंडियों में लेकर आया सरसों हाथों-हाथ बिक गई और भाव में गिरावट की बजाए तेजी देखी गई।

इस सप्ताह में सरसों हाजिर भाव 2021 में सरसों की बढ़ती आवक और ऊपरी स्तर पर मुनाफावसूली का असर देखा गया है।

सरसों वायदा बाजार और हाजिर भाव मार्च 2021

सरसों हाजिर भाव 2021 कल शाम को जयपुर में ₹5700 प्रति क्विंटल के रहे जबकि इससे पीछे जयपुर में सरसों का रेट ₹5805 प्रति क्विंटल पर बंद हुआ था।

सरसों तेल के भाव जयपुर में कल शाम को ₹10 की गिरावट के साथ ₹1210 रहे और अन्य मंडियों में ₹1200 प्रति 10 किलो का रेट रहा।

जबकि सरसों तेल का इससे पहले भाव जयपुर में ₹1230 और अन्य मंडियों में ₹1221 प्रति 10 किलो रहा था।

इसी तरह सरसों के तेल के भाव में आज ₹20 तक की मंदी देखने को मिली और सरसों खली के भाव में भी 25 से ₹30 की गिरावट दर्ज हुई।

सरसों खली का रेट कल शाम को ₹2375 प्रति क्विंटल रहा जबकि गत दिवस सरसों खल का भाव ₹2395 से लेकर ₹2400 प्रति क्विंटल के मध्य था।

अब बात अगर वायदा बाजार की करें तो एनसीडेक्स में सरसों अप्रैल वायदा ₹159 गिरकर 5585 रुपए प्रति क्विंटल पर आ गया है

मई वायदा सरसों ₹156 की गिरावट के साथ ₹5618 प्रति क्विंटल रह गई।

जून वायदा ₹156 की गिरावट के साथ ₹5647 और जुलाई वायदा ₹174 की गिरावट के साथ ₹5684 प्रति क्विंटल दिखा रहा है।

यदि वायदा बाजार के इन आंकड़ों को हम गहनता से समझें तो यह तो लगभग तय माना जा रहा है कि सरसों का हाजिर भाव ₹5000 से नीचे नहीं जाने वाला है।

वायदा बाजार में सभी सरसों अनुबंध एनसीडेक्स में ढाई फीसदी से ज्यादा लुढ़क गए और सरसों के भाव में इन दिनों भयंकर उथल-पुथल चल रही है।

सरसों हाजिर भाव 2021 : रायसिंहनगर ₹5250, सादुलपुर ₹5100, श्रीगंगानगर ₹5000 से ₹5466, संगरिया ₹5200 से ₹5440, श्री विजयनगर ₹5050 से ₹5250 से ₹5311, नोहर ₹5375, आदमपुर ₹5275, रावतसर ₹5336, बरवाला ₹5216, ऐलनाबाद ₹4700 से ₹5081, भट्टू सरसों भाव ₹5198, सिरसा मंडी में सरसों का हाजिर भाव ₹5065 प्रति क्विंटल रहा।

इसी प्रकार से सरसों हाजिर भाव 2021, सरसों तेल का रेट, सरसों खली का भाव देखने के साथ-साथ वायदा बाजार की हलचल, एनसीडेक्स में हुआ उथल-पुथल जैसी जानकारी देखने के लिए जुड़े रहिए हमारे वेब पोर्टल के साथ।

Similar Posts

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *