कृषक कल्याण कोष को हटाने व मंडी शुल्क कम करने हेतु CM को पत्र

राजस्थान प्रदेश के उत्तरी छोर पर स्थित हनुमानगढ़ जिले की रावतसर फूड ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष द्वारा 12 फरवरी 2021 को माननीय मुख्यमंत्री राजस्थान श्रीमान अशोक गहलोत को कृषक कल्याण कोष को हटाने वह मंडी शुल्क कम करने हेतु पत्र लिखा गया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को रावतसर फूड ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन द्वारा लिखित पत्र

मुख्यमंत्री को संबोधित इस पत्र में एसोसिएशन के अध्यक्ष द्वारा विवरण दिया गया है की केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में जारी कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य सरलीकरण अधिनियम 2020 के पूरे भारत में लागू होने के कारण राजस्थान राज्य के पड़ोसी राज्यों जैसे कि हरियाणा ,मध्य प्रदेश ,गुजरात तथा पंजाब आदि राज्यों की सरकारों ने कृषि जिंसों के विक्रय मंडी शुल्क की दरें तुरंत प्रभाव से कम कर दी है परंतु हमारे राजस्थान प्रदेश में यह मंडी शुल्क दरें तथा कृषक कल्याण कोष की दरें पड़ोसी राज्यों से अधिक है।

राजस्थान सुबे के साथ लगते प्रदेशों में मंडी शुल्क की दर लगभग 0.50 रुपए प्रति सैकड़ा तथा राजस्थान राज्य में यह शुल्क 2.60 रुपए प्रति सैकड़ा होने के कारण राजस्थान राज्य के किसानों के कृषि उत्पाद पड़ोसी राज्यों में गृह राज्य की अपेक्षा ऊंची दरों पर बिकती है, इसलिए किसान बंधु अपनी फसल हरियाणा, पंजाब मैं बेचने को प्राथमिकता देते हैं, इससे प्रदेश सरकार को कई करोड रुपए की राज्य उत्पादन शुल्क व मंडी शुल्क की हानि प्रतिवर्ष हो रही है।

कृषक कल्याण शुल्क हटाने तथा मंडी शुल्क को पड़ोसी प्रदेशों के बराबर 0.50 रुपया प्रति सैकड़ा करने हेतु राज्य सरकार को पूर्व में कई बार विज्ञापन द्वारा अवगत कराया जा चुका है परंतु इस संबंध में राज्य सरकार का रवैया उदासीन रहा है।

हनुमानगढ़ जिला मंडी एसोसिएशन द्वारा सीएम को ज्ञापन

इसी क्रम में मंडी एसोसिएशन द्वारा पत्र के माध्यम से मांग की गई है कि राज्य सरकार किसान बंधुओं, मजदूर वर्ग तथा व्यापारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए जल्द से जल्द मंडी शुल्क 0.50 कृपया प्रतिशत करें तथा कृषक कल्याण शुल्क हटाने की ओर कदम बढ़ाएं ताकि आने वाले समय में किसानों को उनके कृषि उत्पादों का अच्छा भाव मिल सके, मजदूर वर्ग के लोगों को उचित रोजगार मिल सके तथा राजस्थान की अनाज मंडियों का अस्तित्व बना रहे।

आज 12 फरवरी 2021 को इंडियन नेशनल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष श्री राहुल गांधी अपने 2 दिन के दौरे पर राजस्थान आ रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तथा राहुल गांधी प्रदेश में कई सभाओं को संबोधित करेंगे, इसी दौरे को ध्यान में रखते हुए हनुमानगढ़ जिला के खाद्य व्यापार संगठन के अध्यक्ष श्रीमान कृष्ण जैन की अध्यक्षता में एक प्रतिनिधिमंडल जिसमें अशोक चौधरी पूर्व चेयरमैन नगर पालिका संगरिया, प्यारे लाल जी सिंगला कोषाध्यक्ष खाद्य व्यापार संघ हनुमानगढ़ तथा खाद्य व्यापार संघ के उपाध्यक्ष सुखदेव सिंह जाखड़ शामिल है, राहुल गांधी व मुख्यमंत्री से मुलाकात करके व्यापारी, मजदूर हितों की रक्षा करने हेतु ज्ञापन सौंपेंगे।

हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानूनों को लेकर हरियाणा, पंजाब तथा उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली बॉर्डर पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, उनकी मांग है कि इन तीनों कानूनों को वापस लिया जाए क्योंकि किसान संगठनों का तर्क है की इन कानूनों के तहत मंडी प्रथा खत्म हो जाएगी।

पिछले कुछ महीनों से जारी किसान आंदोलन ने 26 जनवरी 2021 को हिंसक रूप ले लिया जब ट्रैक्टर रैली को दिल्ली में प्रवेश करने को लेकर पुलिस तथा किसान संगठनों में टकराव की स्थिति बन गई। इस दौरान देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा के कारण कई पुलिसवालों को गंभीर चोटें आई तथा कई आंदोलनकारियों घायल हुए।

राहुल गांधी लगातार प्रेस कॉन्फ्रेंस करके किसान संगठनों द्वारा आयोजित धरना प्रदर्शन को सही ठहरा चुके हैं साथ ही साथ केंद्र सरकार को हाल ही में पारित किए गए कानूनों को रद्द करने की मांग कर चुके हैं, इसी के तहत वे राजस्थान में दो दिवसीय दौरा करेंगे अब देखना यह होगा कि वह किस हद तक किसानों को अपने समर्थन में करने में सफल होते हैं तथा कांग्रेस शासित राज्य राजस्थान में किसानों तथा व्यापारियों की मांगों को मानकर केंद्र सरकार को क्या संदेश देंगे ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *